वीडियोकॉन ग्रुप के फाउंडर वेणुगोपाल धूत ,  ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर और पति दीपक कोचर CBI कस्टडी में है

 चंदा और दीपक दोनों को और वेणुगोपाल धूत को  लोन फ्रॉड मामले में  गिरफ्तार किया गया था

 चंदा, दीपक और वेणुगोपाल को CBI की कस्टडी में स्पेशल बेड और मैट्रेस दिया गया है

 घर के खाने और दवाओं के साथ-साथ अन्य आइटम्स को अपने खर्चे पर इस्तेमाल करने की CBI कोर्ट ने अनुमति दे दी है

मेडिकल कंडीशन का हवाला देते हुए  कुर्सी  गद्दे, तकिए के इस्तेमाल करने की धूत ने  अनुमति मांगी थी

 इन्सुलिन लेने में मदद करने के लिए एक अटेंडेंट रखने की भी अनुमति  भी कोर्ट ने धूत को दी थी

CBI अधिकारियों के मुताबित मुंबई पुलिस के सांताक्रूज लॉक-अप में इस आरोपियों को  शिफ्ट किया गया है

 चंदा कोचर ने ICICI बैंक की कमान संभालने के बाद  वीडियोकॉन की विभिन्न कंपनियों के लिए  कुछ लोन मंजूर किए

अब जांच के बाद पता चला है की लोन के 3250 करोड़ के लोन में से 2810 करोड़ रुपए नहीं चुकाए गए  है

 2017 में वीडियोकॉन और उसकी ग्रुप कंपनियों के अकाउंट को जून NPA घोषित किया था जिससे बैंक को घाटे में था