अब तक के  अपने सबसे ऊंचे स्तर पर  भारत का CAD यानी चालू खाता घाटा  पहुंच गया है

 आंकड़ों के मुताबिक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के दूसरी तिमाही में  बढ़कर 36.4 बिलियन डॉलर पर पहुंच गया है

 18.2 बिलियन डॉलर के इसके पिछली तिमाही के करेंट अकाउंट डेफिसिट का करीब दोगुना है

ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) के हिसाब से  सितंबर तिमाही में  देश का CAD बढ़कर GDP का 4.4% हो गया

 2021-22 की दूसरी तिमाही में एक साल पहले GDP का 1.3% था और 2022 अप्रैल-जून तिमाही में 2.2% हो गया था

देश का करेंट अकाउंट डेफिसिट मौजूदा वित्त वर्ष की पहली छमाही में 54.5 अरब डॉलर रहा है

 यह इसी अवधि में रहे 3.1 अरब डॉलर के करेंट अकाउंट डेफिसिट के मुकाबले यह करीब 15%   ज्यादा है

Fill in some text

 इसमें  करेंट अकाउंट डेफिसिट GDP का 3.3% फीसदी पहली छमाही में रहा और पिछले में 0.2% था

 RBI ने बताया ट्रेड डेफिसिट यानी व्यापार घाटा का ऊंचा स्तर  करेंट अकाउंट डेफिसिट बढ़ने का एक प्रमुख कारण है

 मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वस्तुओं का व्यापार घाटा 63 अरब डॉलर था ये बढ़कर 83.5 अरब डॉलर हो गया है